अबकी ‘बाबरी’ पर आडवाणी को फंसा गए मोदी: लालू यादव

सुप्रीम कोर्ट से बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को बड़ा झटका लगा है. 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और विनय कटियार सहित कई वरिष्ठ भाजपा और वीएचपी नेताओं के खिलाफ आपराधिक मामला चलेगा.

ये भी पढ़ें: अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद: कब-कब, क्या-क्या हुआ?

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक कोर्ट के फैसले के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. लालू ने कोर्ट के फैसले को पीएम मोदी की साजिश बताया है, ताकि वो वरिष्ठ नेता आडवाणी को राष्ट्रपति पद की दौड़ से बाहर कर दें.

लालू ने कहा कि सीबीआई पीएम मोदी के हाथों में है और सीबीआई ने ही सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि बाबरी केस में आडवाणी के खिलाफ आपराधिक साजिश करने का केस चलना चाहिए. जबकि माना जा रहा था कि आडवाणी इस बार राष्ट्रपति बनेंगे.

ये भी पढ़ें: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामला: आडवाणी, जोशी, उमा पर चलेगा क्रिमिनल केस

लालू ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अाडवाणी के राष्ट्रपति बनने के मौके को खत्म कर दिया है. कोई भी ये समझ सकता है कि आडवाणी को दौड़ से बाहर करने के लिए ये मोदी सरकार की राजनीतिक साजिश है. लालू ने कहा कि गुजरात दंगों के समय वाजपेयी ने मोदी से राज धर्म का पालन करने को कहा था. लेकिन आडवाणी ने मोदी का समर्थन किया था.

आपको बता दें कि इस साल जुलाई में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होना है. कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी और आडवाणी में से कोई एक इस पद का कार्यभार संभाल सकता है.