मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गुरुवार को जहानाबाद के ओकरी गांव में बीबीएम कॉलेज में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे. वह राज्यसभा सांसद महेंद्र प्रसाद सिंह उर्फ किंग महेंद्र की मां मुलूकरानी देवी की प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे थे. जनसभा में मुख्यमंत्री ने जहानाबाद और अरवल में इंजीनियरिंग कॉलेज खोले जाने की घोषणा भी की.

ज्ञात हो कि नीतीश कुमार के सात निश्चय में राज्य के प्रत्येक जिले में इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने की एक योजना है । अन्य राज्यों की तुलना में बिहार में युवाओं की संख्या सबसे ज्यादा है. मानव संसाधन के बेहतर इस्तेमाल के लिए सरकार उन तक उच्च शिक्षा की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए प्रयासरत है.

सीएम ने कहा कि सरकार सात निश्चय के तहत सभी जिलों में शिक्षण संस्थानों की स्थापना कर रही है. प्रदेश में पांच नये मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की जा रही है. सरकार निजी विश्वविद्यालय खोलने का अवसर भी दे रही है. प्रदेश में शिक्षण संस्थानों की कमी है, जिसे निजी भागीदारी से ही दूर किया जा सकता है. उद्यमी निजी विश्वविद्यालय स्थापित करने के लिए आगे आएं, सरकार का भरपूर सहयोग मिलेगा. जनसभा में मुख्यमंत्री ने राज्यसभा सांसद महेंद्र प्रसाद उर्फ किंग महेंद्र से कहा कि आपके पास संपत्ति की कमी नहीं है. इस तरह के संस्थान अन्य जिलों में भी खोलें, जहां बच्चे बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सकें. उन्होंने कहा कि जहानाबाद जिले में एक से बढ़ कर एक लोग हैं, जो निजी विवि की स्थापना कर सकते हैं.

इसके अलावा जहानाबाद के सभा में नीतीश कुमार ने कहा कि नशामुक्त समाज से ही देश का भला होगा. उन्होंने कहा कि पूर्ण शराबबंदी के बाद राज्य में बदलाव आया है. पहले जो शराब पीते थे, अब उनके घरों में खुशियां लौट आयी हैं.