मुझमें काबिलियत होगी, तो हॉलीवुड जरूर जाऊंगा: सुशांत सिंह राजपूत

फिल्म हो या गॉसिप कॉलम, सुशांत सिंह राजपूत दोनों जगह छाए रहते हैं. कभी अफेयर्स को लेकर, कभी अफेयर्स टूटने को लेकर और कभी अपनी पुरानी प्रेमिका अंकिता से मिलने को लेकर. हाल ही में उन्होंने मशहूर अंतर्राष्ट्रीय मॉडल केंडल जेनर के साथ शूट किया है. जल्द ही उनकी नई फिल्म राब्ता  आने वाली है. सुशांत की आगे की प्लानिंग के बारे में उनसे बात कर रही हैं फ़र्स्टपोस्ट की संवाददाता रूना आशीष.

हाल ही में आपने केंडल जैनर के साथ शूट किया. कैसा रहा?
मुझे इतना ही पता था कि वो नंबर 1 मॉडल हैं और मारियो टेस्टीनो एक दिग्गज फोटोग्राफर. मैं एक्साइटेड तो था. लेकिन जब मैंने दिल्ली में रहने वाली अपनी भतीजी से बात की पता चला कि मुझे और खुश होना चाहिए. उसे भरोसा ही नहीं हो रहा था कि मैंने केंडल के साथ काम किया है. मैंने फोटो दिखाया तब भी उसे भरोसा करने में दो-तीन दिन लगे.

कटरीना ने भी टॉवल का ऐड किया और फिर आपने ऐड किया.
देखिए उनकी अपनी एक सीरीज है. मारियो कई लोगों के साथ शूट करते आ रहे थे. वैसे भी वो मेरे साथ तो वोग मैगजीन के लिए शूट कर रहे थे. मैं अपनी बात बाताऊं तो मुझे स्टिल कैमरा से बहुत डर लगता है क्योंकि मुझे समझ में नहीं आता कि जब शूट करते हैं तो क्या सोचते हुए फोटो खिंचाते हैं. मैं उनके सामने जरा सोच समझ कर ही काम कर रहा था लेकिन मारियो मेरे साथ खुश थे. तब उन्होंने कहा कि मैं एक टॉवेल सीरीज कर रहा हूं तुम करना चाहोगे. तो मैंने तो हां कर दी.

कहीं आपके कदम हॉलीवुड की तरफ तो नहीं बढ़ रहे हैं?
मेरा हॉलीवुड की तरफ रुझान है या नहीं, इससे ज्यादा अहम है कि उनका रुझान मेरी तरफ है या नहीं. हम यहां पर वैसी फिल्में बनाते हैं जिनका कोई रेफरेंस पॉइंट हो. मसलन अभी इस तरह की फिल्म चल रही है तो ऐसी ही फिल्म बना लेते हैं. लेकिन वहां लोग बिना किसी रेफरेंस के फिल्म बनाते है. डायरेक्टर्स किसी खास विषय और हीरो पर पैसा लगाते हैं. अगर मुझ पर वो पैसा लगाते हैं और मुझमें काबिलियत होगी तो मैं जरूर हॉलीवुड जाऊंगा.

अच्छा आप पुनर्जन्म को मानते हैं क्योंकि राब्ता में तो रीइन्कार्नेशन की ही बात होने वाली है?
मैं पुनर्जन्म को नहीं मानता हूं. लेकिन जब कहानी पढ़ी तो ऐसा लगा कि मैं भी कहानी पर यकीन कर लूं. राब्ता की स्टोरी मुझे बहुत अच्छी लगी. पुनर्जन्म पर यूं तो कई कहानियां बन चुकी हैं लेकिन हर एक का कहानी कहने का तरीका अलग अलग होता है.

इंटरस्टेलर देखिए यह साइंस फिक्शन देख कर लगेगा कि मैं इसपर यकीन कर लूं. जबकि ऐसी सच्चाई है या नहीं हमें यह मालूम नहीं होता. जंगल बुक में आपने जानवरों को आपस में बात करते देखा है. हमें मालूम है कि जानवर आपस में बात नहीं करते लेकिन जिस तरीके से कहानी बताई गई है हम इस पर यकीन करते हैं.

आपकी जिंदगी का राब्ता किसके साथ है?
मैं अजनबियों के साथ बहुत जल्दी कनेक्ट कर जाता हूं. मुझे 18-19 साल तक तो यह मालूम ही नहीं था कि मुझे अपनी जिंदगी में क्या चाहिए. मैं श्यामक डॉवर के साथ बैकग्राउंड डांसर था. फिर एक दिन उन्होंने कहा कि मुझे थियेटर करना चाहिए. मैंने थिएटर शुरू कर दिया. एक दिन मैं दिल्ली के सीरीफोर्ट ऑडिटोरियम में एक्टिंग कर रहा था तो देखा सारे अजनबी यानी मेरे दर्शक मुझे देख रहे हैं. मैं उन्हें हंसाता तो वो भी हंसते थे.

अगर मैं कुछ गुस्सा करके देखता तो वो मुझे वैसे देखते थे. तो उन अजनबियों के साथ वह मेरा सबसे बड़ा राब्ता था. मुझे बचपन से लगता था कि मैं अगर किसी को कुछ बोलूंगा तो वो मेरी बात को नहीं समझेगा. ऐसे में अगर कोई मेरी एक्टिंग के कारण मेरी बातों को सच मानने लगे तो मेरे लिए यह सब बहुत नया था.

आप तैयारी में पूरी तरह से यकीन रखते हैं. आप तो अपनी फिल्म के लिए नासा भी जा रहे हैं.
हां मैं अपनी अगली फिल्म चांद के पार चलो के लिए नासा जा रहा हूं. मैं फ्लाइंग लाइसेंस भी ले रहा हूं. मैंने अपने इंजीनियरिंग कॉलेज में ड्रॉप आउट किया था. सभी लोग मुझ पर हंस रहे थे. वो सारे लोग आईआईएम में गए. इंजीनियरिंग के बाद उन्होंने एमबीए किया. वे नासा नहीं जा पाए लेकिन मैं ड्रॉपआउट नासा जा रहा हूं. लेकिन मुझे यह ध्यान रखना होगा कि मेरी फिल्में चलें नहीं तो मुझे फिल्में मिलनी बंद हो जाएंगी.

आपने साढ़े चार साल तक ड्रामा किया. थिएटर की वजह से आपको ऐक्टिंग में क्या फायदा हुआ है.
आपको क्या करना यह शायद मालूम ना हो लेकिन थिएटर की वजह से आपको ऐक्टिंग में क्या नहीं करना यह पता चल जाता है. मैं इन दिनों अल पचीनो पर एक किताब पढ़ रहा हूं. उसमे लिखा है कि कैसे वो गॉडफदर जैसी फिल्म करने बाद भी हर शॉट के लिए 20-25 टेक लेते थे. फिर निर्देशक से कहते कि वो 28वां टेक लेना वो अच्छा है.

क्या अंकिता से आपकी दोस्ती है?
मेरी सिर्फ एक ही दोस्त है. उसको आप जानते नहीं हैं.