Indian-rail
ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों को जल्द ही इकोनॉमी एसी के की एक नयी श्रेणी में यात्रा करने का विकल्प मिलेगा और इस कोच के लिए किराया भी सामान्य 3 एसी के किराये से कम होगा। (Photo source : indianrailwaynews.com)

ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों को जल्द ही इकोनॉमी एसी के की एक नयी श्रेणी में यात्रा करने का विकल्प मिलेगा और इस कोच के लिए किराया भी सामान्य 3 एसी के किराये से कम होगा। रेलवे के कायाकल्प के हिस्से के तौर पर प्रस्तावित पूर्ण वातानुकूलित ट्रेन में एसी 3, एसी 2 और एसी 1 क्लास के अलावा थ्री टायर इकोनॉमी एसी कोच होगी। इस नयी कोच में स्वचालित दरवाजे होंगे।

बहरहाल, इकोनॉमी एसी क्लास में यात्रियों को अन्य एसी कोच की तरह कंबलों की जरूरत नहीं होगी क्योंकि इनमें तापमान 24 से 25 डिग्री होगा। फिलहाल, मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर, थर्ड एसी, सेकंड एसी तथा फर्सट एसी क्लास हैं जबकि राजधानी, शताब्दी और हाल ही में शुरू की गईं हमसफर एवं तेजस ट्रेनें पूरी तरह वातानुकूलित हैं।

रेलवे का इरादा चयनित मार्गो पर पूर्ण वातानुकूलित ट्रेनें चलाने  का है ताकि अधिकतम यात्रियों को यात्रा के दौरान एसी की सुविधा मिल सके। इस पूरी कवायद का उद्देश्य ट्रेनों और स्टेशनों में वर्तमान सुविधाओं को अधिक उन्नत कर सेवा में बदलाव करना है। रेलवे ने इसके लिए एक अलग प्रकोष्ठ बनाया है।

रेल मंत्रालय के  एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया  अन्य एसी क्लास की तरह इकोनॉमी एसी में ठंडक अधिक नहीं होगी क्योंकि इसमें तापमान 24 से 25 डिग्री पर तय होगा। इसका उद्देश्य यात्रियों को सुविधा प्रदान करना है ताकि उन्हें बाहर की गर्मी का अहसास न हो।

हाल ही में शुरू हुई हमसफर एक्सप्रेस यात्रियों की पसंदीदा बन गई है और उसमें केवल 3 एसी कोच हैं। अधिकारी ने बताया कि इकोनॉमी एसी डिब्बों के निमार्ण का फैसला करने से पहले इनके ब्यौरों पर काम किया जाना है